Sarkari Naukri com

फार्मेसी में कैरियर की संभावनाएं

हम यहाँ आपको बताना चाहते है की आगे चलकर फार्मेसी में करियर की बहुत सम्भावनाये है | तो अगर आप भी इस सेक्टर में अपना करियर बनाना चाहते है तो इस आर्टिकल में आपको वह सब कुछ जानने के लिए मिलेगा जिससे आप आसानी से इसमें अपना करियर बना सकते है तो आइये दोस्तो शुरू करते है |

इस आर्टिकल में हम आपको ये बातएंगे की फार्मेसी के लिए आपको कौन सा कोर्स करना चाहिए उसके लिए फीस कितनी है और कौन से कॉलेज से आप कर सकते है इत्यादि |

फार्मेसी में करियर के स्कोप

अगर आपकी रूचि दवाओं में है तो फार्मेसी कोर्स आपके लिए सबसे उत्तम रहेगा क्योकि ये सेक्टर इस समय बहुत तेजी से बढ़ रहा है और आने वाले समय में ये ऐसे ही बढ़ेगा तो इस वजह से इस छेत्र में आपको बहुत अच्छा स्कोप मिलेगा | इस सेक्टर में मेडिकल और पेरा मेडिकल और इस छेत्र से जुड़े काम काज में बहुत ही तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है मेडिकल से जुड़ा हुआ फार्मेसी सेक्टर भी इस समय बड़े मोके का माना जा रहा है |

जिन लोगो की रूचि अलग अलग रोगो में लाभ पंहुचा सके ऐसे उपयोगी दवाये और दवाओं की खोज में है वो लोग फार्मेसी सेक्टर से जुड़े कोर्स करके इस सेक्टर में अपना करियर बना सकते है | इस छेत्र में नई नई दवाइओ की खोज और उनको डेवेलोप करने जैसे कार्य किये जाते है |

इसके छेत्र में अनेको विकल्प है जैसे की हॉस्पिटल फार्मेसी , क्लिनिक फार्मेसी , टेक्निकल फार्मेसी , रिसर्च एजेंसीज , मेडिकल डिस्पेंसिंग स्टोर , सेल्स एंड मार्केटिंग डिपार्टमेंट , हेल्थ सेंटर्स , मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव , क्लिनिकल रिसर्चर , मेडिकल राइटर , एनालिटिकल केमिस्ट , ऑन्कोलॉजिस्ट , रेगुलेटरी मैनेजर इत्यादि के तौर पर आपके लिए बहुत विकल्प है कार्य करने के लिए |

फार्मेसी में करियर के विकल्प

इसके छेत्र में आपके लिए विकल्प एक या दो विकल्प तक ही सिमित नहीं है बल्कि इस फील्ड में आपके पास करियर बनाने के लिए बहुत से विकल्प उपलब्ध है आप अपनी पसंद के हिसाब से किसी भी फील्ड में जाना चाहे तो जा सकते है |

फार्मेसी के सेक्टर में विक्लप सरकारी और प्राइवेट दोनों छेत्रो में उपलब्ध है इसके अलावा आप इसमें खुद का भी बिज़नेस शुरू कर सकते है | चलिए हम आपको कुछ सरकारी छेत्र के विकल्प के बारे में बताते है |

सरकारी छेत्र में फार्मेसी का करियर

आपको राज्य या केंद्र सर्कार के अस्पताल में , स्वास्थय व् परिवार विभाग के कल्याण में , या सार्वजानिक दवा उत्पादन की कम्पनीओ में फार्मासिस्ट के तौर पर नियुक्त किया जा सकता है |ठीक इसी तरह दवाओं की गुणवत्ता के जांच करने वाले ड्रग इंस्पेक्टर या सरकारी विश्लेसको के लिए भी फार्मेसी की जानकारी वालो को भर्ती किया जाता है |

इन सब के अलावा केंद्रीय सैन्य बालो में भी टाइम आने पर फार्मासिस्ट को भर्ती किया जाता है |

प्राइवेट सेक्टर में फार्मेसी का करियर

इस छेत्र में दवा का निर्माण करने वाली और दवा के वितरण में कार्यरत कम्पनिया उनकी बिक्री और प्रचार के लिए मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव ली बड़े तादाद में भर्तियां करते है |

जो लोग फार्मेसी के छेत्र में डिग्री और डिप्लोमा प्राप्त करते है सबसे पहले उनको प्राथमिकता दी जाती है जिसकी वजह से उनका काम दवा कम्पनिया जो उत्पादन करती है उनके बारे में डॉक्टरों को जानकारी देना और उनसे जुडी उत्पाद की बिक्री को बढ़ाना होता है |

कुल मिला कर कहा जाये तो इस छेत्र में आपको दवाओं की बिक्री को बढ़ाने का और उनके प्रमोसन का होता है |

टीचिंग में फार्मेसी का करियर

फार्मेसी के छेत्र में अगर आप M Pharma या फिर पीएचडी करले तो आप इसमें टीचिंग के छेत्र में भी जा सकते है | फार्मेसी के छेत्र में पढाई पूरी करने के लिए देश में बहुत सारे प्राइवेट और सरकारी संसथान है |

जैसे जरुरत बढ़ रही है वैसे तो इस विषय के संसथान में कमी है परन्तु अलग अलग राज्यों में कई संस्थानों के निर्माणों और पाठ्यक्रम के सीटों में बढ़ोत्तरी करने के लिए प्रस्ताव भी पारित किये जा रहे है इस कारन आने वाले समय में इस विषय में पढ़ने के लिए लोगो की मांग का बढ़ना स्वाभाविक है |

तो इस लिहाज से आप फार्मेसी के छेत्र में पीजी स्तर की पढाई करने के बाद टीचिंग में अपने करियर के बारे में अवश्य सोच सकते है |

मेडिकल इन्वेस्टिगेटर

इस छेत्र में नई दवाइयों की टेस्टिंग और डेवेलोपमेंट किया जाता है इस छेत्र में सारी मेडिसिन और अन्य मेडिकल से संभंधित वस्तुओ के स्टॉकिंग और डिस्ट्रीब्यूशन की जिम्मेदारी हॉस्पिटल फार्मासिस्ट की होती है |

रिटेल के सेक्टर में फार्मासिस्ट बिजनेस मैनेजर की तरह काम करता है और दवा संबधी कारोबार संभालता है |

क्लिनिकल रिसर्च

इस सेक्टर के अंदर जो मेडिसिन नई लांच होती है उनके बारे में रिसर्च किया जाता है की वो कितनी सुरक्छित है और असरदार है | इस कार्य के लिए क्लिनिकल ट्रायल किया जाता है | देश में क्लीनिकल रिसर्च के लिए बहुत सी विदेशी कम्पनिया आ रही है |

दवाइओ के स्क्रीनिंग सम्बन्धी कार्यो में दवाओं का फार्मुलेशन करना , पशु मॉडलों पर परीक्षण करना , या क्लिनिक रिसर्च करने का समावेश होता है |

प्राइवेट हॉस्पिटल में फार्मासिस्ट

आप जानते होंगे की सरकारी अस्पतालों के साथ साथ प्राइवेट अस्पतालों में भी फार्मासिस्ट की उतनी ही ज्यादा आवशयक्ता होती है | प्राइवेट अस्पतालों के फार्मासिस्ट पर दवाइओ और चिकित्सा सम्बंधित अन्य सहायता वाली सामग्रीओ के भंडार का , स्टॉकिंग का और वितरण का जिम्मा होता है |

जबकि अगर रिटेल सेक्टर की बात करे तो उसमे फार्मासिस्ट को बिजनेस मैनेजर की तरह काम करते हुए दवा का कारोबार चलाने में समर्थ हो ऐसे योग्यता होनी चाहिए |

मेडिकल स्टोर खोल सकते है

डी फार्मा या बी फार्मा पूरा करने के बाद यदि आपकी जॉब करने की इच्छा नहीं है तो आप अपना खुद का मेडिकल स्टोर भी खोल सकते है | मेडिकल स्टोर खोलने के लिए आपको लाइसेंस की जरुरत होगी इसके लिए आपको फार्मेसी में डिप्लोमा करने के साथ साथ राज्य फार्मेसी काउंसिल में पंजीकृत करना पड़ेगा |

जिस राज्य के काउंसिल में आप अपने आप को पंजीकृत करवाएंगे उसी राज्य के अधिकार में आपको मेडिकल स्टोर खोलने का लोइसेन्स आपको मिल जायेगा |

फार्मासिस्ट के लिए स्किल्स

फार्मासिस्ट में करियर बनाने के लिए आपमें निचे दी हुई स्किल्स होनी चाहिए |

  1. दवाओं के बारे में सम्पूर्ण जानकारी होना
  2. विज्ञानं के विषयो खासकर लाइफ साइंस और दवा के बारे में रूचि हो |
  3. व्यापार के लिए जरुरी हुनर होना चाहिए |
  4. मरीजों की बातो को समझने का धैर्य होना चाहिए |
  5. तार्किक सोच हो |
फार्मेसी कोर्स की फीस

फार्मेसी कोर्स की फीस के लिए सरकारी कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में इसकी फीस बहुत काम होती है मगर प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की फीस ५० हजार से लेके १ लाख रूपए तक प्रतिवर्ष की होती है |

फार्मेसी में कैरियर की संभावनाएं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *