Sarkari Naukri com

विद्या वाहिनी बिहार ऐप की पूरी जानकरी हिंदी में – e Vidya Vahini App

e Vidya Vahini App – प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने आज इंटरनेट और इंट्रानेट के माध्यम से 60,000 सरकारी और सहायता प्राप्त स्कूलों को जोड़ने के उद्देश्य से स्कूल के कम्प्यूटरीकरण कार्यक्रम “विद्या वाहिनी” का शुभारंभ किया। “यह एक अच्छे काम की शुरुआत है, हमें इसे बहुत दूर तक ले जाना है।

विज्ञान कम से कम दूरी को समाप्त करने में एक प्रभावी भूमिका निभाता है और इसलिए मैं कहता हूं कि एक गांव के स्कूल में भी अब विश्वविद्यालय की क्षमता होगी अगर इसे ठीक से चलाया जाए। उन्होंने वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा।

Read More:- Where To Download Free PDF Books

प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी, झारखंड के मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, पश्चिम बंगाल के आईटी मंत्री मानवेंद्र मुखर्जी और यूपी के शहरी विकास और आवास मंत्री लालजी टंडन से बात की उनके राज्यों में आईटी क्षेत्र। संचार और आईटी मंत्री अरुण शौरी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

विद्या वाहिनी बिहार ऐप क्या है? e Vidya Vahini App

जैसा की आप सभी जानते है की पुरे देश में अभी कोरोना की महामारी चल रही है जिसकी वजह से पुरे देश में सरे स्कूल कॉलेजेस बंद है जिसकी वजह से छात्रों की पढाई का बहुत नुकशान हो रहा है हम आपको बतादे की बिहार के शिक्षा विभाग ने मई महीने की शुरुआत में सरकारी स्कूल के सभी कक्षा की किताबो को

अध्यायवार बिहार राज्य पाठ्य पुस्तक निगम लिमिटेड की ऑफिसियल वेबसाइट पर लांच किया था | ऐसा करके बिहार स्टूडेंट्स को मार्फ़त पाठ्य पुस्तक उपलब्ध करने वाला सबसे प्रथम राज्य बन गया था | अब बिहार राज्य ने सारे छात्रों के लिए मार्फ़त पाठ्य पुस्तक उपलब्ध करने के लिए

Read More:- आत्म निर्भर भारत की जानकारी हिंदी में – Atmanirbhar Bharat Abhiyan Yojana

विद्या वाहिनी बिहार ऐप लांच करके एक और कामयाबी को पा लिया है | बिहार शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने अपर मुख्य सचिव आर के महाजन, प्राथमिक निदेशक सह पाठ्य पुस्तक निगम के एमडी डॉ. रणजीत कुमार सिंह की उपस्थिति में 29 मई 2020 के शुक्रवार की दोपहर को विद्या वाहिनी बिहार ऐप को लांच किया |

विद्या वाहिनी बिहार ऐप

प्रबंध निदेशक ने आर के महाजन के मार्गदर्शन में इस ऐप को तैयार किया है | इस ऐप के तैयार होने के बाद बिहार बोर्ड के छात्र जो सरकारी स्कूलो में कक्षा १ से १२ में पढ़ते है तक के २ करोड़ से अधिक छात्रों उनके अभिभावको और सभी बच्चो की सहूलियत में वृद्धि हो जाएगी |

इस ऐप को लांच करके बिहार शिक्षा विभाग ने स्टूडेंस को बहुत बड़ी सौगात दी है साथ ही साथ इससे शिक्षकों और अभिभावकों को भी बड़ी रहत मिली है |

इस ऐप की मदद से बिहार राज्य के छात्रों जो सरकारी स्कूलो में १ से लेकर १२ में पढ़ते है

उन छात्रों को बिना स्कूल में आये और बिना कोई किताब ख़रीदे वे अपनी क्लास के किताबो को आसानी से पढ़ सकेंगे |

और इसके साथ ही अपने आने वाले इम्तिहान की तैयारी भी कर पाएंगे |

विद्या वाहिनी बिहार ऐप

सच तो यह की जब से लोकडाउन लगा है तब से .तब से सभी स्कूल कोचिंग बंद है

जिसकी वजह से सभी बच्चो को पढाई करने में दिक्कतों का सामना करना पद रहा था इसी को ध्यान में रखते हुए राज्य पाठ्यपुस्तक प्रकाशन निगम ने विद्यावाहिनी

एप मॉड्यूल को तैयार किया है जिसकी मदद से बच्चे ऑनलाइन इंटरनेट की सहायता से किताबो को पढ़ सके |

इस ऐप के तैयार हो जाने के बाद बिहार शिक्षा विभाग ने सबसे पहले इसका ट्रायल भी किया

फिरशिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने २९ मई २०२० दिन शुक्रवार को इस सार्वजनिक रूप से इस ऐप को लॉच कर दिया |

इस ऐप के लॉच होते ही तुरंत निगम के एम डी डॉ रणजीत कुमार सिंह ने निगम की ऑफिसियल वेबसाइट bstbpc.gov.in.

इन पर क्लास १ से १२ तक के सभी पाठ्क्रम को चैपटर अनुसार अपलोड कर दिया |

अब बिहार में इसे कोई भी सरकारी स्कूल के स्टूडेंट्स , टीचर और पेरेंट्स सभी इस ऐप को आसानी से

गूगल में प्ले स्टोर से जाके इस ऐप को आसानी से डाउनलोड कर सकते है |

विद्या वाहिनी बिहार ऐप

डाउनलोड करने के बाद छात्रों के सामने कक्षा १ से लेकर १२ तक के सभी पाठ्यक्रम उपलब्ध होंगे वो इसे चेपटर वाइज पढ़ सकेंगे |

निगम के एमडी रणजीत सिंह ने इस एप्लीकेशन को स्कूल के छात्रों के लिए संजीवनी बताया है और

ये भी कहा की ये ऐप उनको नोट्स तैयार करने में भी सहायता करेगा |

एम डी ने आगे बताया की इस ऐप को अब्देल सोलूशन्स के तहत केवल १५ दिन में ही तैयार किया गया है

ये इतनी जल्दबाजी में इसलिए तैयार किया गया क्योकि स्कूल और कोचिंग बंद होने

की वजह से छात्रों को पढाई का बहुत नुकसान उठाना पड़ रहा था |

एम डी रणजीत सिंह ने आगे कहा की ये ऐप के माध्यम से अब बिहार राज्य के प्रारम्भिक,

माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूल के बच्चे से कई भी रहकर अपने स्मार्टफोन की मदद से आसानी से पढाई कर सकते है |

विद्या वाहिनी बिहार ऐप के फायदे

  • ये ऐप बिहार के शिक्षा मंत्री ने लॉच किया जिसकी मदद से
  • बच्चो को आसानी से किताबे प्राप्त हो सकेंगी |
  • ये ऐप महज केवल १५ दिनों के अंदर में तैयार किया गया है |
  • इस ऐप की मदद से छात्र हर एक चेपटर का जिसका वो चाहे नोट भी बना सकते है |

इस ऐप के लॉच होने के बाद बिहार शिक्षा विभाग की ओर जारी प्रेस विज्ञप्ति में ऐसा कहा गया की इस विद्या वाहिनी बिहार ऐप में

क्लास १ से लेकर १२ तक के सभी पाठ्य पुस्तकों को सम्मिलित किया गया है |

इसमें सभी पाठ्यक्रमों को चेपटर वाइज संग्रहित किया गया है जिससे बोर्ड के छात्र और छात्राओं को उन्हें डाउनलोड करने में कोई परेशानी न हो |

अगर विद्यार्थी चाहे तो अपने सुविधा के लिए हर चेपटर का नोट बनाकर ऐप में सुरक्षित कर सकते है

जिसे उन्हें आसानी हो एग्जाम की तैयारी करने में |

विद्या वाहिनी बिहार ऐप को आसनी से गूगल के प्ले स्टोर पर जेक डाउनलोड किया जा सकता है इसके अलावा आप इसे

बिहार राज्य पाठ्य पुस्तक निगम लिमिटेड, पटना की वेबसाइट bstbpc.gov.in पर भी जाके डाउनलोड कर सकते है |

विद्या वाहिनी बिहार ऐप

इनमे साडी किताबे ऍन सी आर टी की है जिसे आप पीडीऍफ़ के रूप में डाउनलोड कर सकते है

इन सबके अलावा छात्र अपना कोई भी संदेसज माय नोट्स सेक्शन के विभाग में फीड कर सकते है

पर इस सुविधा का लाभ लेने के लिए छात्रों को अपना नाम और मोबाइल नंबर इसमें फीड करना होगा |

e vidya vahini apk
e vidya vahini apk

इनसबके अलावा इस ऐप में दो और विभाग भी है जो की आपको ऊपर दिखाए गए स्क्रीन शॉट में दिखाई दे रहे होंगे

वो है फोटो गेलेरी और अदर्स का जिसमे बिहार में शिक्षा के लिए प्रासंगिक कुछ वीडियो हैं।

तो आपलोगो को अब पता चल गया होगा की विद्या वाहिनी बिहार ऐप क्या है और इसके कितने सरे फायदे है

तो आपको भी इसका यूज़ करके घर बैठे ऑनलाइन पढ़ना चाहिए ताकि आपका नुकशान न हो |

e Vidya Vahini App

Read More:-

e Vidya Vahini App
e Vidya Vahini App

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *