Sarkari Naukri com

वोकल फॉर लोकल – पूरी जानकारी हिंदी में Vocal for Local Details

Vocal for Local Details – कोविद -१९ जैसी वैश्विक महामारी के बीच और दो लगातार लगने वाले लॉकडाउन और एक के बाद एक ग्रेडेड सहजता के बाद, जब भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को Vocal for Local होने के लिए प्रेरित किया, तो इसे पुरे देश में सामूहिक प्रशंसा और स्वीकृति प्राप्त हुई |

हलाकि हमारे देश में अतीत में स्थानीय अर्थव्यवस्थाओं को मजबूत करने के लिए खरीद और खपत के माध्यम से काफी सारे प्रयास किये गए थे लेकिन उसको संस्थागत समर्थन नहीं मिला जिसकी वजह से ये पहल का कोई परिणाम नहीं निकला और ये पहल दिन की रोशनी को नहीं देख सका |

इसके अलावा, कुछ दृष्टिकोण समकालीन वैश्विक दुनिया के साथ या तो प्रतिबंधात्मक थे या संरेखित नहीं थे। स्थानीय के लिए Vocal for Local का एक सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों को एक विशिष्ट पहचान प्रदान करेगा जो ज्यादातर गहरे विपणन बजट रखने वालों का विशेषाधिकार हैं

या उनको ही मिल रहा है । तो आज के इस लेख में हम आपको वोकल फॉर लोकल क्या है? इसकी पूरी जानकारी देने वाले है तो आइये शुरू करते है |

वोकल फॉर लोकल क्या है? Vocal for Local Details

vocal for local kya hai
वोकल फॉर लोकल – पूरी जानकारी हिंदी में

१२ मई २०२० के दिन भारत के प्रधान मंत्री ने अपने सम्बोधन में आज कल जो कोविद १९ की वजह से सारी रुकी हुई अर्थ व्यवश्ता को वापस से जीवित करने करने के लिए २० लाख करोड़ रूपये का वित्तीय पैकेज देने का फैसलों के समावेश किया था |

Read More:- बेस्ट कैरियर कोर्सेज फॉर फ्रेशर्स 2020 – Best Courses for Freshers

वित्तीय प्रोत्साहन के अलावा, पीएम ने एक विशाल स्थानीय बाजार के रूप में भारत के महत्व के बारे में बात की और कहा कि कैसे भारत अपने स्थानीय उत्पादों को वैश्विक स्तर पर ले जाने की क्षमता रखता है।

पीएम ने महसूस किया कि दुनिया के प्रमुख ब्रांड एक बार स्थानीय ब्रांड थे और वे वैश्विक ब्रांड बन गए जब स्थानीय लोगों ने उन्हें खरीदना और उपयोग करना शुरू कर दिया। उन्होंने उन्हें ब्रांड किया और फिर उन पर गर्व महसूस किया और उन्हें बढ़ावा देना शुरू कर दिया।

वे स्थानीय ब्रांडों से उन्हें वैश्विक ब्रांड बनाने के लिए उत्प्रेरक थे।यह पहला मौका नहीं है जब पीएम मोदी ने ‘आत्मनिर्भरता’ की बात की है। इससे पहले भी, प्रधान मंत्री ने कहा था कि कोरोनावायरस महामारी ने

“भारत को आत्मनिर्भर बनना सिखाया है”, और यह भी कहा की “लोगों के कौशल और ज्ञान को संकट के समय परीक्षण के लिए रखा जाता है”।

वोकल फॉर लोकल क्या है? Vocal for Local Details

local for vocal in hindi
वोकल फॉर लोकल – पूरी जानकारी हिंदी में

भाषण के एक भाग के रूप में प्रधान मंत्री ने भारत के लिए स्थानीय विनिर्माण, स्थानीय बाजारों और स्थानीय आपूर्ति श्रृंखलाओं के महत्व को पहचानने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने यह कहा कि कोविद -19 ने भारत को स्थानीय होने का महत्व सिखाया है ।

उन्होंने कहा, की संकट के समय हमारी सभी मांगें स्थानीय स्तर पर पूरी हुईं है । इसलिए अब, यह स्थानीय ‘उत्पादों के बारे में वोकल फॉर लोकल होने और उन्हें वैश्विक बनाने में मदद करने का समय है।

चीन से दूर होने की ओर इशारा करते हुए, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने १२ मई मंगलवार को लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्थानीय आपूर्तिकर्ताओं ने कोविद -१९ जैसी संकट की इस घड़ी में देश की सारी मांगों को पूरा किया है |

उन्होंने लोगो से आग्रह करते हुए यह कहा कि भारतीयों को Vocal for Local होना चाहिए और उनसे उत्पादों को खरीदना चाहिए ताकि हमारे देश का पैसा देश में ही रहे ।

प्रधान मंत्री ने अपने भाषण में लोकल को प्रोमोट किया और कहा की हमें ज्यादा से ज्यादा जितना हो सके लोकल से ही प्रोडक्ट को खरीदना चाहिए उन्होंने आगे की कहा की इतना ही नहीं बल्कि हमें अपने देश के स्थानीय सामान को खरीदते समय उन पर गर्व भी महसूस करना चाहिए |

उन्होंने आगे कहा की हमें ज्यादा से ज्यादा लोकल का प्रचार और प्रसार करना चाहिए और उन्होंने कहा की मुझे पूरा विस्वाश है की हमारा देश ऐसा करने में पूरी तरह से सफलता प्राप्त कर सकता है |

उन्होंने कहा की अब वो समय आ गया है जब हमें लोकल को अब ग्लोबल बनाने की आवशयक्ता है इसका मतलब यह की अब हमें Vocal for Local के लिए अपनी आवाजों को बुलंद करना पड़ेगा |

देश का पैसा देश में ही रहे

वोकल फॉर लोकल - पूरी जानकारी हिंदी में
वोकल फॉर लोकल – पूरी जानकारी हिंदी में
  • वोकल फॉर लोकल को प्रोमोट करने के पीछे हमारे देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का सिर्फ एक ही उद्देश्य है
  • की सभी भारतवासी लोकल मतलब की देश में बनने वाली चीजों का ही इस्तेमाल करे और उन्हें प्रोत्शाहित करे |
  • जैसा की आप सभी देख ही रहे पिछले कुछ महीनो से कोरोना देश की एक बहुत बड़ी महामारी बन गयी है |
  • जिसके कारण पूरी दुनिया की व्यवस्था पर बहुत ही गहरा असर हुआ है |
  • जिसके कारण भारत देश के साथ साथ अलग अलग देश की आर्थिक स्थिति पूरी तरह से ख़राब हो सकती है
  • ऐसे अनुमान लगाए जा रहे है |
  • इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए पीएम ने वोकल फॉर लोकल को प्रोत्साहित करने के लिए लोगो से
  • अपील की ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग हमारे देश में तैयार किये हुए प्रोडक्ट को खरीदे
  • ताकि हमारे देश का सारा पैसा हमारे देश में ही रहे |
  • जिसके परिणाम स्वरुप हमारे देश की अर्थव्यवश्ता में ज्यादा से ज्यादा सुधार होगा और आर्थिक व्यवस्था अच्छी रहेगी |
  • इसलिए हमें लोकल फॉर वोकल को जितना हो सके उतना प्रोत्साहित करना चाहिए
  • ताकि हमारे देश के पैसा हमारे देश में ही उपयोग में लाया जा सके |

मेक इन इंडिया और खरीदें लोकल

  • हम आपको बताना चाहते है की वोकल फॉर लोकल ‘भारत में विनिर्माण और उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए
  • २०१४ में शुरू किए गए एक पूर्व अभियान, मेक इन इंडिया का विस्तार करता है।
  • मेक इन इंडिया के स्तंभ नवाचार, कौशल विकास, निवेश, बौद्धिक संपदा और बुनियादी ढांचे में निहित हैं।
  • अर्थव्यवस्था के 25 क्षेत्रों में फैला, मेक इन इंडिया संरचना में परिणामोन्मुख और व्यवस्थित है,
  • भारत में निवेश के अवसरों को स्पष्ट रूप से परिभाषित करता है।
  • संभावित निवेश के आकर्षण को बढ़ाते हुए,
  • मेक इन इंडिया भारत के निवेश और विनिर्माण परिदृश्य को बदलने में सफल रहा।
  • इसलिए हमे भी इसमें पूरा पूरा भाग लेना चाहिए मेक इन इंडिया और लोकल को ही खरीदना चाहिए |

वोकल फॉर लोकल पर जोर क्यों दे ?

local is vocal meaning in hindi
वोकल फॉर लोकल – पूरी जानकारी हिंदी में
  • जैसा की हम सभी देख रहे है की इस समय पूरी दुनिया कोरोना
  • जैसे भयंकर महामारी से जंग लड़ रहा है |
  • परन्तु हम बतादे की चीन निर्यात से जो पैसे कमा रहा है
  • उससे वह अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के साथ साथ
  • कई सीक्रेट मिशन को अंजाम देने की भरपूर कोसिस में लगा हुआ है |
  • आप सभी जानते ही है की चीन से हमारे देश में कई घरेलू सामान
  • और बहुत से चीजों का आना होता है |
  • ऐसा करके चीन अपने सारे सामान को भारत देश में बेचकर काफी प्रॉफिट कमा रहा है |
  • तो अगर हम उनके सामान को न खरीदकर बल्कि अपने देश में बनाये गए
  • सामान को ख़रीदे तो हमारे देश की अर्थ व्यवस्था में सुधर होगा |
  • और देश का पैसा देश में ही रहेगा
  • इसलिए हमें वोकल फॉर लोकल में जोर देकर देश की मदद करनी चाहिए |

वोकल फॉर लोकल पर क्यों करे गर्व ?

  • तो आइये हम आपको ये बताते है की आखिर क्यों आपको वोकल फॉर लोकल पर गर्व होना चाहिए|
  • आज का वक़्त केसा है आप सब ये तो देख ही रहे है
  • की किस तरह सारी अर्थव्यवस्था सही नहीं चल रही है |
  • इसलिए ये वक़्त ऐसा है कि हमे लोकल के लिए आवाज उठानी ही पड़ेगी
  • तभी हमारे लोकल यानि की हमारे देश का हर एक सामान ग्लोबल बन पायेगा |
  • क्युकी ऐसा तो है नहीं की ये सारे सामान पहले से ही ग्लोबल थे
  • पहले वो भी लोकल ही हुआ करते थे |
  • लेकिन जैसे जैसे उन सामानो को उन्ही देशो के द्वारा खरीदा जाने लगा |
  • जिस देश के वो सामान है उन्हें जोरो सोरो से प्रचार और प्रसार किया जाने लगा
  • तब से ही वो ग्लोबल बन गए |
  • इसी तरह अगर हम भी ऐसा करे अपने देश के लोकल पर गर्व महसूस करे
  • तो वो भी बहुत जल्द ग्लोबल बन जायेंगे |
  • इसलिए हमे उन्हें खरीदने के साथ साथ उनका प्रचार और प्रचार साथ ही साथ उन पर गर्व भी करना होगा |

रोजगार के अवशर बढ़ेंगे Vocal for Local Details

  • अगर हम सब मिलकर लोकल के लिए अपनी आवाज बुलंद करेंगे तो
  • इससे सबसे बड़ा फायदा यह होगा की रोजगार में बढ़ोत्तरी होगी |
  • अगर हमारे देश का सारा पैसा हमारे देश में ही रहेगा तो इससे जितने भी सूक्ष्म और लघु उधोग है
  • उन्हें ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहायता हमारे देश से ही मिल पायेगी |
  • जिससे वो जितने भी बेरोजगार लोग है उन्हें आसानी से रोजगार मिल पायेगा
  • और हमारे देश से बेरोजगारी की समस्या दूर होगी |
  • इसलिए हर तरह से देखा जाये तो इससे लाभ ही मिलेगा और इसकी मदद से भारत आत्मनिर्भर बन पायेगा |

आखिर में हम आपको ये ही बताना चाहते है की अगर इस महामारी के समय में अगर हमें अपने देश की अर्थव्यवस्था को सही करना है तो हमें वोकल फॉर लोकल को प्रोमोट करना ही पड़ेगा और करना भी चाहिए | तो ये थी वोकल फॉर लोकल से जुडी सारी जानकारी जो हमने आपको इस लेख में दी

हमे आशा है की आपको Vocal for Local Details ये जानकारी अच्छी लगे और आप भी वोकल फॉर लोकल को प्रोमोट करे थैंक यू !!!!

Read More:-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!